Tuesday, February 7, 2023
Google search engine
HomeIndiaसंसद में उठाएंगे कश्मीरी पंडितों का मुद्दा, बीजेपी वोट के लिए करती...

संसद में उठाएंगे कश्मीरी पंडितों का मुद्दा, बीजेपी वोट के लिए करती यूज, बोले शिवसेना सांसद संजय राउत

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पहुंच चुकी है। उनकी इस यात्रा में महाराष्ट्र से शिवसेना सांसद संजय राउत (Shiv Sena MP Sanjay Raut) शामिल हुए। इसी बीच एक निजी टीवी चैनल से बातचीत के दौरान शिवसेना सांसद ने कश्मीर पंडितों के मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर गंभीर आरोप लगाए।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि कश्मीर पंडितों का मुद्दा वो संसद में उठाएंगे। भारतीय जनता पार्टी कश्मीर पंडितों का इस्तेमाल केवल वोट बैंक के लिए करती, लेकिन जो उनकी समस्याएं हैं, उनका समाधान नहीं करती। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के दरवाजे कश्मीरी पंडितों के लिए हमेशा खुले हैं। हम कश्मीरी पंडितों के साथ खड़े हैं।

संजय राउत बोले- केंद्र सरकार कश्मीरी पंडितों के खून से राजनीति कर रही क्या
संजय राउत ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने कश्मीरी पंडितों के लिए कुछ नहीं किया। बीजेपी उनके वापसी की बात करती थी, लेकिन जो घर वापसी के लिए कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा चाहिए वो उनको नहीं दी जा रही। इसीलिए कश्मीर में तैनात सरकारी कर्मचारी जम्मू में ट्रांसफर चाहते हैं, लेकिन इस छोटी सी मांग को केंद्र सरकार पूरा नहीं करना चाहती। उन्होंने कहा कि बीजेपी कि इस राजनीति को देखना पड़ेगा कि क्या केंद्र सरकार कश्मीरी पंडितों के खून से राजनीति करना चाहती है।

बाला साहेब ठाकरे की शिवसेना तोड़कर भाजपा ने धोखा दिया: संजय राउत
शिवसेना सांसद ने कहा कि यह बहुत दर्दनाक है कि हमारे देश में हमारे ही भाइयों को विस्थापित होकर रहना पड़ रहा है। 2014 में भाजपा ने इन्हीं सब मुद्दों को लेकर वोट मांगे थे। उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों का मुद्दा राजनीति से ऊपर है। राउत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने बाला साहेब ठाकरे की शिवसेना तोड़कर बहुत बड़ा धोखा दिया है। राउत ने कहा कि बालासाहेब देश के पहले नेता थे, जिन्होंने कश्मीरी पंडितों के लिए महाराष्ट्र के द्वार खोले। हमने महाराष्ट्र में कश्मीरी पंडितों का समर्थन किया, उन्हें आरक्षण और नौकरी भी दी। अगर बालासाहेब कर सकते हैं तो मोदी या अमित शाह क्यों नहीं कर सकते।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments