Sunday, July 21, 2024
Google search engine
HomeGadgetsमहाराष्ट्र की पहली महिला मुख्य सचिव बनीं सुजाता सौनिक

महाराष्ट्र की पहली महिला मुख्य सचिव बनीं सुजाता सौनिक

मुंबई। महाराष्ट्र में पहली बार महिला आईएएस अधिकारी सुजाता सौनिक को मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है। प्रदेश की एकनाथ शिंदे सरकार ने उनकी नियुक्ति की है, और इस पद पर बैठने वाली वह राज्य की पहली महिला अधिकारी बन गई हैं। सुजाता सौनिक (Sujata Saunik) 1987 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। उनके पति, मनोज सौनिक, भी राज्य के मुख्य सचिव रह चुके हैं।
सुजाता सौनिक का करियर और नियुक्ति
सुजाता सौनिक इससे पहले राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव का कार्यभार संभाल चुकी हैं। अब उन्हें मुख्य सचिव के पद पर नियुक्त किया गया है। मुख्य सचिव के रूप में उनका कार्यकाल एक वर्ष का होगा और वह जून 2025 में सेवानिवृत्त होंगी। उन्होंने रविवार को मुख्य सचिव नितिन करीर से पदभार ग्रहण किया। सुजाता सौनिक प्रदेश की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं और सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी मनोज सौनिक की पत्नी हैं। मनोज सौनिक राज्य के मुख्य सचिव के पद पर काम कर चुके हैं, और अब उनकी पत्नी सुजाता सौनिक ने भी इस पद को संभाल लिया है। यह पहली बार है जब पति-पत्नी दोनों ने मुख्य सचिव का पद संभाला है।
नितिन करीर का कार्यकाल और नई नियुक्ति
महाराष्ट्र की एकनाथ शिंदे सरकार ने पहले नितिन करीर को तीन महीने का अतिरिक्त कार्यकाल दिया था। उनकी अवधि समाप्त होने के बाद सुजाता सौनिक को इस पद पर नियुक्त किया गया है। चर्चा थी कि नितिन करीर का कार्यकाल एक बार फिर बढ़ाया जाएगा, लेकिन इसके बजाय राज्य सरकार ने सुजाता सौनिक की नियुक्ति कर दी।
मुख्य सचिव पद के दावेदार
सीनियरिटी के अनुसार, 1987 बैच की अपर मुख्य सचिव गृह सुजाता सौनिक, अपर मुख्य सचिव राजस्व राजेश कुमार (1988) और मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव इकबाल सिंह चहल (1989) मुख्य सचिव पद के दावेदार माने जा रहे थे। अंततः, सुजाता सौनिक के नाम पर मुहर लगाई गई। सुजाता सौनिक की इस महत्वपूर्ण नियुक्ति ने न केवल उनके करियर में एक नया अध्याय जोड़ा है, बल्कि राज्य प्रशासन में महिला नेतृत्व को भी मजबूत किया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments