Saturday, April 20, 2024
Google search engine
HomeIndiaट्विटर पर भिड़े CM शिवराज और Ex-CM कमलनाथ, जानिए कौन से मुद्दे...

ट्विटर पर भिड़े CM शिवराज और Ex-CM कमलनाथ, जानिए कौन से मुद्दे उठाए

भोपाल: विधानसभा चुनाव को अब करीब नौ महीने का समय शेष है. इससे पहले भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के नेता एक दूसरे पर जुबानी हमले कर रहे हैं. इस जुबानी युद्ध में अब मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री और मप्र कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ भी कूद पड़े हैं. इन दोनों के बीच अब सवाल पर सवाल की सियासी लड़ाई शुरू हो गई है.यह लड़ाई शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से उनके द्वारा किए गए वादों को पूरा न करने को लेकर शुरू हुई. मुख्यमंत्री के सवाल का जवाब कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने दिया तो राजनीतिक गलियारों में दोनों की सियासी लड़ाई चर्चा का विषय बन गई.

क्या कहा है शिवराज सिंह चौहान ने

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन के एक कार्यक्रम में कहा कि मैं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से सवाल करना चाहता हूं कि उन्होंने अपने वचन पत्र में किए वादे पूरे नहीं किए.उन्होंने किसानों को फसलों का बोनस सहित अन्य वादों और घोषणाओं को पूरा नहीं किया.मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अब वह लगातार पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से सवाल पूछेंगे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट के माध्यम से जवाब दिया. उन्होंने कहा कि शिवराज जी मुझसे सवाल कर रहे हैं कि हमनें वादों को पूरा नहीं किया, वे बताएं कि ऐसे कौन से वादे और अगर हमारी योजनाएं जनहित में हैं तो उसे लागू कर दें.

कांग्रेस पर क्या आरोप लगाए हैं

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने वह दौर भी देखा है जब लोग भगवा पहनने से डरते थे,जो भगवान राम की काल्पनिक बताते थे,अस्तित्व को नकारते थे,वे अब राम नाम की माला जप रहे हैं.ऐसे लोग त्रिपुंड लगाकर महाकाल महाराज को साष्टांग दंडवत कर रहे हैं.दिग्विजय सिंह सीएम थे तो नक्सलवादी तत्कालीन मंत्री की गर्दन काट ले गए थे.हमारी सरकार आते ही नक्सलवाद महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मप्र की सीमा में आगे नहीं बढ़ पाया.

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा कि कांग्रेस ने फिर से झूठे वादे करने शुरू कर दिए हैं.वचन पत्र पर अब मैं कमलनाथ जी से लगातार पूछूंगा सवाल.आखिर उनके झूठ की भी एक हद होती है.इस पर कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि मुख्यमंत्री का काम सवाल पूछा नहीं, जनहित की योजनाओं पर अमल करना है.आप कुछ महीने के लिए सवाल बचाकर रखिए.जनता आपको कुर्सी से हटाकर सवाल पूछने का खूब समय देने वाली है.लगता है,आप उसी की नेट प्रैक्टिस कर रहे हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments