Saturday, July 13, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedट्रैफिक पुलिस की शिकायत पर शिवसेना के अवैध रिक्शा स्टैंड पर बीएमसी...

ट्रैफिक पुलिस की शिकायत पर शिवसेना के अवैध रिक्शा स्टैंड पर बीएमसी का चला बुलडोजर

मुंबई। बृहंमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के एच/पूर्व विभाग ने बांद्रा पूर्व रेलवे स्टेशन के पास ठाकरे गुट की शिवसेना के द्वारा बने अवैध रिक्शा स्टैंड को ट्रैफिक पुलिस की शिकायत पर बुलडोजर चला दिया हैं। मिली जानकारी के अनुसार मुंबई ट्रैफिक विभाग के पुलिस उपायुक्त राज तिलक रौशन ने २२ मई २०२३ को बीएमसी एच/पूर्व विभाग को पत्र लिखकर बांद्रा पूर्व रेलवे स्टेशन के पास अवैध बने रिक्शा स्टैंड पर कार्रवाई करने व सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए कहा था। जिसके बाद बीएमसी एच/पूर्व की सहायक आयुक्त स्वप्नजा क्षीरसागर के नेतृत्व में परिरक्षण विभाग के सहायक अभियंता अजयकुमार पाटिल, दुय्यम अभियंता प्रशांत पाटिल व उनकी टीम ने पुलिस के सहयोग से गुरुवार को अवैध रूप से बने शिवसेना के रिक्शा स्टैंड पर तोड़क कार्रवाई कर रास्ते को अतिक्रमण मुक्त किया हैं। बता दें कि अवैध रूप से बने रिक्शा स्टैंड की वजह से ट्रैफिक जाम होता था और इसी जाम का फायदा अपराधी उठाते थे। जिसकी शिकायत ट्रैफिक विभाग को मिल रही थी और लोगो को हो रहीं समस्या को देखते हुए ट्रैफिक विभाग द्वारा बीएमसी को पत्र दिया गया था। वहीं बीएमसी एच/पूर्व के एक अधिकारी ने बताया कि कार्रवाई से पूर्व जगह का निरीक्षण किया गया था। जिसके बाद यह कार्रवाई कि गई हैं। वहीं सूत्रो का दावा हैं कि रिक्शा स्टैंड के नाम पर शिवसेना ठाकरे गुट के ऑटो रिक्शा चालक वेल्फेयर ऑफिस बनाया गया था जो वार्ड क्रमांक ९६ के पूर्व स्थानीय नगरसेवक हाजी हलीम खान का कार्यालय है, जिसे शिवसेना शाखा का नाम देकर पूर्व स्थानीय नगसेवक हाजी हलीम खान राजनीतिक रंग देने मे लगे हैं। ठाकरे गुट के पूर्व नगसेवक हाजी हलीम खान ने दावा किया हैं कि उन्हे शिंदे गुट की ओर से दिया गया १० करोड़ का ऑफर ठुकराया इसलिए उन्होंने कार्यालय ढहा दिया। कोई नोटिस नहीं दिया, बस ऑफर दिया और कहा कि ऑफर नहीं माना तो, कार्रवाई होगी। हम बाला साहेब ठाकरे के सैनिक हैं। उद्धव ठाकरे के साथ वफादारी निभाएंगे, कुछ भी कर लें वो, उनके साथ नहीं जाएंगे। वहीं सवाल यह उठता हैं कि कार्रवाई से पूर्व १० करोड़ का ऑफर किसने दिया, क्या एकनाथ शिंदे ने ऑफर दिया? यह जांच का विषय हैं। जबकि हकीकत यह हैं कि इस शिवसेना शाखा से लोगों को ट्रैफिक जमा व अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता था, लेकिन आज के जनप्रतिनिधियों को लोगों की समस्या से नहीं बल्कि अपनी राजनीतिक दुकान चलने से मतलब हैं। वहीं मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशिष शेलार ने कहा कि निर्माण अगर अवैध होगा तो कार्रवाई तो होकर रहेगी।

पुलिस उपायुक्त राज तिलक रौशन द्वारा बीएमसी को लिखा गया पत्र
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments