Wednesday, June 7, 2023
Google search engine
HomeIndiaMaharashtra में सावरकर पर रार, CM,डिप्टी सीएम समेत कई नेताओं ने सोशल...

Maharashtra में सावरकर पर रार, CM,डिप्टी सीएम समेत कई नेताओं ने सोशल मीडिया पर बदली डीपी, लगाई ये तस्वीर

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना-BJP गठबंधन के अन्य नेताओं ने वी.डी. सावरकर के समर्थन में ‘गौरव यात्रा’ से पहले मंगलवार को उनकी तस्वीर को अपने सोशल मीडिया अकाउंट की डीपी (डिस्प्ले पिक्चर्स) पर लगाया.

भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने घोषणा की है कि देश में सावरकर के योगदान का सम्मान करने तथा कांग्रेस नेता राहुल गांधी की द्वारा उनकी (सावरकर) आलोचना के जवाब में 30 मार्च से महाराष्ट्र के प्रत्येक जिले में सावरकर गौरव यात्रा निकाली जाएगी.

सोशल मीडिया पर सावरकर की तस्वीर लगाने के साथ नेताओं ने लिखा ‘मैं सावरकर हूं’ या ‘हम सभी सवारकर हैं’.

पवार ने कांग्रेस से रुख नरम करने को कहा ?
उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा वी डी सावरकर की की तीखी आलोचना करने को लेकर महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (एमवीए) गठबंधन में तनाव के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार ने हस्तक्षेप करके कांग्रेस नेतृत्व को इस मुद्दे पर शिवसेना की चिंताओं से अवगत कराया है.

विपक्षी नेताओं ने कहा कि कांग्रेस सावरकर की आलोचना के मामले में अपना रुख नरम करने पर सहमत हो गई है. पार्टी द्वारा सावरकर की आलोचना की वजह से महाराष्ट्र में उसके गठबंधन साझेदार NCP और शिवसेना में असहजता है.

शिवसेना (यूबीटी) के नेता संजय राउत ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी के साथ अपनी बातचीत में सावरकर मुद्दे को उठाया था और एमवीए सहयोगियों के बीच इस मामले पर सहमति है. राउत ने कहा, ‘एमवीए गठबंधन बरकरार है. यदि किसी को लगता है कि एमवीए टूट जाएगा, तो वह गलत है.’

बैठक में शामिल दो नेताओं ने बताया कि पवार ने सोमवार को खरगे द्वारा बुलाई गई विपक्षी नेताओं की बैठक के दौरान यह मुद्दा उठाया और स्पष्ट किया कि सावरकर को निशाना बनाने से एमवीए को कोई लाभ नहीं होगा. बैठक में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी मौजूद थे.

शिवसेना के ठाकरे गुट के सांसदों की एक बैठक के बाद राउत ने कहा, ‘‘लगभग सभी विपक्षी नेताओं का विचार था कि सावरकर के मुद्दे को उठाने की कोई जरूरत नहीं है. हमें यह तय करना होगा कि हमें मोदी से लड़ना है या सावरकर से और भ्रम उत्पन्न नहीं करना है.’’

राहुल ने बैठक में कहा कि…
पवार ने राहुल गांधी को यह भी बताया कि सावरकर कभी भी आरएसएस के सदस्य नहीं थे और इस बात को रेखांकित किया कि विपक्षी दलों की असली लड़ाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ है.

विपक्षी नेताओं ने कहा कि राहुल ने बैठक में कहा कि सावरकर का मुद्दा एक वैचारिक रुख है. तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, भारत राष्ट्र समिति के नेताओं ने भी शिवसेना के ठाकरे गुट के साथ सम्पर्क किया.

बीजेपी ने राहुल गांधी पर ब्रिटेन के दौरे के दौरान भारत को ‘बदनाम’ करने का आरोप लगाया है और उनसे माफी की मांग की है. लोकसभा के पूर्व सदस्य गांधी ने कहा कि वह सावरकर नहीं हैं और माफी नहीं मांगेंगे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments